Wednesday, October 14, 2009

केदारनाथ सिंह और चंद्रकात एकाग्र हेतु रचना आमंत्रण



प्रमोद वर्मा स्मृति संस्थान द्वारा हिन्दी के प्रमुख आलोचक, कवि एवं नाटककार तथा मुक्तिबोध के मित्र प्रमोद वर्मा समग्र के सफलतम् प्रकाशन के बाद अपने समय के दो महत्वपूर्ण और सर्वमान्य कवि श्री केदारनाथ सिंह और श्री चन्द्रकांत देवताले पर केंद्रित पृथक-पृथक ‘एकाग्र’ प्रकाशन किया जा रहा है ।

प्रमोद वर्मा स्मृति संस्थान के बैनर तले यह एक ऐसा आत्मीय प्रकाशन होगा जिसमें श्री केदारनाथ सिंह और श्री चंद्रकांत का आत्मवृत, कविताएँ, आलेख, साक्षात्कार, संस्मरण, रेखाचित्र, चित्र, पत्रावली, प्रमुख अवसरों पर दिये गये व्याख्यान, प्रमुख आलोचकों की समीक्षात्मक टिप्पणियाँ आदि समादृत होंगी ।

उक्त दोनों विशिष्ट कृतियों का संपादन संस्थान के अध्यक्ष और कवि श्री विश्वरंजन द्वारा किया जा रहा है । श्री केदारनाथ सिंह और श्री चंद्रकांत देवताले जी के रचनात्मक जीवन और कर्म के कई पहलुओं के वाकिफ़ रचनकारों, आलोचकों से उनके उल्लेखनीय प्रसंग – संस्मरण, कुछ पत्राचार और फोटो आमंत्रित किया गया है । रचनाकार हमें विशिष्ट साहित्यिक पत्रिकाओं में पूर्व प्रकाशित सामग्री की फ़ोटोकॉपी भेज कर भी सहयोग कर सकते हैं ।
रचनाकारों से आग्रह है कि वे अपनी महत्वपूर्ण सामग्री एक माह के भीतर भेज सकें तो किताबों के प्रकाशन में विशेष सुविधा होगी ।
रचनाओं की प्रतीक्षा होगी – इस पते पर – श्री विश्वरंजन, सी-2/15, शांति नगर, आफ़िसर्स कॉलोनी, रायपुर, छत्तीसगढ़ – 492001, दूरभाष – 99815-51000, -मेल-srijan2samman@gmail.com

3 comments:

गौतम राजरिशी said...

ये तो बेहतरीन प्रयास होगा सर। मुझे मेरे संग्रह में कुछ मिलते ही भेजता हूँ..और अपने चंद अन्य मित्रों को भी सूचित करता हूँ। कम-से-कम एक मित्र तो है मेरा जिसके पास केदार जी से जुड़ी कुछ रचनायें अवश्य होंगी।

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

दीपावली में शांति का सन्देश फैले यही कामना है
आपके परिवार के लिए मंगल कामना
सस्नेह,
- लावण्या

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

दीपावली की हार्दिक बधाई!